तिलक लगाने और कलावा बांधने से होते है ये जबरदस्त फायदे, जानिए विस्तार से

हर रंग अपने आप में एक खास महत्व रखता है हम कलाई, गले और शरीर के किसी भी अंग में कुछ पहनने के लिए अलग अलग रंगों की चीजों का प्रयोग करते हैं कुछ ज्ञानी लोग यह मानते हैं कि रंग हमें बुरी नजरों से बचा सकते हैं और जो रंग जिस भगवान को प्यारा होता है उससे आशीर्वाद भी मिलता है। यह भी मान्यता है की तिलक का हमारे स्वास्थ्य से भी एक गहरा संबंध है तिलक हमारे स्वास्थ्य पर बहुत प्रभाव डालता हैं और हमें स्वास्थ्य से जुड़ी हुई परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ता और हमारा जीवन सुखी होता है। अलग-अलग रंग हमे बहुत से दुष्प्रभावो से बचाते हैं। तिलक और मनुष्य का एक गहरा संबंध है, भगवान का आह्वान करते वक्त तिलक लगाना हमारे लिए बहुत ही शुभ और फलदायक होता है।

आइए जानते हैं कलावा और तिलक से जुड़ी मान्यताएं और इनके महत्व को :

कलावा : हिंदू धर्म में किसी पूजा के बाद कलावा बांधने बहुत ही शुभ माना जाता है और इसको रक्षक सूत्र भी कहा जाता है। कुछ लोगों का मानना है कि इसमें ब्रह्मा, विष्णु और महेश तीनों का आशीर्वाद मिलता है। हमें मुसीबतों का सामना नहीं करना पड़ता और सकारात्मक ऊर्जा मिलती है। कुछ लोग यह मानते हैं कि कलावा धारण करने से कुछ  रोग नष्ट हो जाते हैं।

काला : रंग हमें बहुत सी बुरी शक्तियों से बचाता है यह एक महत्वपूर्ण रंग है क्योंकि अगर किसी छोटे बच्चे को नजर लगने की समस्या है तो हम उसे काले रंग का धागा या टीका लगा सकते है। इससे उसकी नजर लगने की समस्या ठीक हो जाएगी। काले रंग के धागे का सम्बन्ध शनि देव महाराज और राहु से होता है इसलिए इसे धारण करके ग्रह दोषों से भी छुटकारा पाया जा सकता है।

जनेऊ : जनेऊ को हिंदू मान्यता के अनुसार बहुत ही शुभ माना जाता है इसको गुरु लोग धारण करते है और किशोरावस्था में आने पर इसके नियमो का पालन किया जाता है। जनेऊ का सीधा सम्बन्ध शुक्र से होता है। ये स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है।

भगवा : हिंदू मान्यता के अनुसार भगवा रंग साधु संतों का रंग है इसको पहनने के बाद मनुष्य शांति और सुख का अनुभव करता है। भगवा रंग मोक्ष का प्रतीक भी माना जाता है।साधु भगवा रंग के वस्त्र धारण करते हैं। इस रंग के धागे को धारण करने से व्यक्ति के जीवन में सुख, शान्ति, ख्याति और शक्ति बढाता है। इस रंग का सीधा सम्बन्ध ब्रहस्पति से होता है।

tilak or kalawa

दिन के अनुसार तिलक लगाने का महत्व :

सोमवार : भगवान शिव का दिन होता है। इस दिन भस्म का टीका लगाने से मन शांत होता है और परेशानिया दूर हो जाती है। हम चाहे तो इस दिन शिवलिंग पर जल भी चढा सकते है।

मंगलवार : हनुमान जी का दिन होता है। इस दिन लाल सिन्दूर लगाने से जीवन से सभी कष्ट दूर हो जाते हैं। साथ ही उसके बुद्धि और कार्य शक्ति में भी इजाफा होता है।

बुधवार : माँ दुर्गा और गणेश जी का दिन होता है। इस दिन केवल सिन्दूर का तिलक लगाना चहिए, ऐसा करने से गणेश जी प्रश्न होते है और हमे धन धान्य से परिपूर्ण करते है।

बृहस्पतिवार : भगवान विष्णु का दिन माना जाता है। इस दिन चंदन या हल्दी का तिलक लगाना शुभ होता है। इससे आर्थिक परेशानियां दूर होती है और कारोबार में वृधि होती है।

शुक्रवार : संतोषी माता का दिन होने के कारण इस दिन लाल रंग का टीका लगाना शुभ माना जाता है। ऐसा करने से हमारी सभी इच्छा पूर्ण होती है।

शनिवार : यह दिन शनिदेव और भैरव देव का दिन है। इस दिन काला टीका लगाएं। काला रंग शनि महाराज का पसंदीदा रंग है, इसे लगाने से वे खुश हो जाते है।

रविवार : यह श्री हरि विष्णु और सूर्य देव का दिन होने के कारण इस दिन पीला और लाल चन्दन लगाना बहुत ही फलदायक होता है।

यह भी पढ़ें : रुद्राक्ष क्यों पहनते है जानिए रुद्राक्ष का महत्व और इस से होने वाले लाभ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here